that site https://www.fairreplica.com. browse around this website https://exitreplica.com. Buy now rolex replica. Visit This Link rolex replica. my site fake rolex. click here to investigate fake rolex. company website replica rolex. 75% off fake watches. clone http://www.replicagreat.com/. like it replica rolex. finest materials with scrupulous attention to details. Find more here fake watches. linked here https://www.watchreplica.cn. check my reference replica rolex. official source https://rolexreplica-watch.net. check that rolexreplica-watch. With Best Cheap Price fake rolex. Continued replica rolex. check here replica rolex. Learn More rolex replica. published here rolex replica. P न्यूज़ छत्तीसगढ़

कोरबा विकास समिति ने तय किया कि रेल्वे का रूख नहीं सुधरा तो आगामी दिनों में किसी भी मालगाड़ी को नहीं चलने दिया जाएगा...


कोरबा :-- गेवरा रोड सहित कोरबा से 6 यात्री ट्रेनों को रेलवे ने बंद कर दिया है। इसके कारण नागरिक परेशान है। कोरबा के साथ हो रहे सौतेले व्यवहार ने हर किसी को नाराज कर दिया है। कोरबा विकास समिति के प्रतिनिधि मंडल ने राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल की अगुवाई में बिलासपुर पहुंच कर कलेक्टर सारांश मित्तर से भेंट की। मौके पर ही डीआरएम को बुलवाया गया। यहां पर कोरबा क्षेत्र में रेल सुविधा की कटौती के बारे में चर्चा की गई। प्रतिनिधिमंडल में जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष श्रीकांत बुधिया, सामाजिक कार्यकर्ता एमडी माखीजा, वरिष्ठ पत्रकार कमलेश यादव, किशोर शर्मा, राकेश श्रीवास्तव शामिल थे। बैठक में सदस्यों ने कोरबा की स्थिति को लेकर नाराजगी जताई। इसी मसले पर कोरबा विकास समिति ने तय किया की रेल्वे का रुख नही सुधरा तो आगामी दिनों में किसी भी मालगाड़ी को नहीं चलने दिया जाएगा।
राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने तल्ख तेवर के साथ रेलवे के सौतेले व्यवहार की खबर ली। इस दौरान सुनिश्चित किया गया कि 29 अप्रैल को दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के जीएम के साथ बिलासपुर संभाग के सांसद और विधायकों की बैठक रखी जाएगी। राजस्व मंत्री ने कहां कि डीआरएम पूरी तैयारी के साथ इसमें पहुंचे। किसी भी तरह की आधी अधूरी जानकारी और बहानेबाजी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अंत में फिर दोहराया गया कि अगर रेलवे बंद ट्रेनों को जल्द बहाल नहीं करता है तो किसी भी ट्रेन को नहीं चलने दिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने बिलासपुर के एक दिवसीय प्रवास पर सर्किट हाऊस में बिलासपुर डी.आर.एम. आलोक सहाय को तलब कर कोरबा से पूर्व में संचालित हो रही सवारी गाड़ियों को तत्काल शुरू करने के लिए कहा। राजस्व मंत्री ने कड़े शब्दों में कहा कि कोरबा से गाड़ियों को रेलवे द्वारा बन्द कर देने की वजह से आम यात्रियों को अनेक कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। यात्रियों को समय व पैसे की बर्बादी के साथ ही अनेक कठिनाईयों का भी सामना करना पड़ रहा है। रेल प्रशासन द्वारा लंबित रखी गई सवारी गाड़ियों को तत्काल चलाए जाने का अनुरोध करते हुए कोरबा के आम नागरिकों द्वारा विभिन्न मंचों से अनेक बार रेलवे को ज्ञापन भी दिया जा चुका है। राजस्व मंत्री द्वारा स्वयं भी इस संबंध में महाप्रबंधक रेलवे को पत्र लिखा जा चुका है। राजस्व मंत्री ने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कठोर शब्दों में कहा कि बिलासपुर रेलवे प्रशासन द्वारा इस संबंध में कोरबा के नागरिकों की जरूरतों और उनकी भावनाओं को कोई महत्व नहीं दिया जा रहा है। इस दौरान राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कोरबा से चलने वाली कई टेªनो को बंद व रद्द किये जाने को लेकर खासा रोष जताया है। उन्होने कहा कि कोविड महामारी के समय से बंद 6 यात्री टेªनों को अब तक पुनः प्रारम्भ नही किया गया है, उपर से छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस को एक माह के लिए रद्द कर दिया गया। जिस क्षेत्र से कोयला ढुलाई का कार्य किया जाता है उस गेवरा क्षेत्र से आज के समय में एक भी यात्री टेªन की सुविधा नही है। रेलवे प्रशासन की इस मनमानी से क्षेत्र में आक्रोश व्याप्त हैं।
जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि रेलवे के इस अड़ियल रवैये के प्रति कोरबावासियों में बहुत नाराजगी है जिसकी वजह से वे कभी भी इस मुद्दे को लेकर बड़ा आन्दोलन कर सकते हैं, हालांकि अभी उन सभी को समझाईश देकर रोक रखा गया है। राजस्व मंत्री ने कड़े लहजे में कहा कि यदि कोरबावासियों की भावनाओं के साथ रेल प्रशासन का ऐसे ही अड़ियल रूख रहा तो कभी भी कोरबा में उग्र आंदोलन हो सकता है जिसकी सम्पूर्ण जवाबदारी रेलवे प्रशासन की होगी।  जयसिंह अग्र्रवाल ने कहा कि कोयला ढुलाई के रिकार्ड के लिए रेलवे प्रशासन यात्री ट्रेनों  को बंद और बार-बार रद्द कर रही है।

बैठक में जयसिंह अग्रवाल ने इस बात पर विशेष बल देते हुए कहा कि कोरबा अंचल से कोल परिवहन कर रेल प्रशासन द्वारा साल दर साल अरबों रुपये का राजस्व अर्जन किया जाता है परन्तु सुविधा विस्तार की तो बात अलग है, जो सुविधाएं पहले से प्राप्त हो रही थीं, रेलवे द्वारा उसे भी बंद कर दिया जा रहा है जो क्षेत्रीय जनता की घोर उपेक्षा है। लोगों में रेल प्रशासन के प्रति घोर नाराजगी है।
डी.आर.एम बिलासपुर आलोक सहाय को हिदायत देते हुए जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि रेलवे महाप्रबंधक व अन्य उच्चाधिकारियों के साथ इस विषय पर बैठक आयोजित कराएं। बिलासपुर संभाग के प्रमुख जनप्रतिनिधियों को आयोजित की जाने वाली बैठक में उपस्थित होने के लिए आमंत्रित करने का निर्देश राजस्व मंत्री द्वारा दिया गया।
इस महत्वपूर्ण बैठक में राजस्व मंत्री के साथ अन्य जन प्रतिनिधियों के अलावा बिलासपुर निगम के महापौर रामशरण यादव, विशेष रूप से उपस्थित रहे।

TOP