that site https://www.fairreplica.com. browse around this website https://exitreplica.com. Buy now rolex replica. Visit This Link rolex replica. my site fake rolex. click here to investigate fake rolex. company website replica rolex. 75% off fake watches. clone http://www.replicagreat.com/. like it replica rolex. finest materials with scrupulous attention to details. Find more here fake watches. linked here https://www.watchreplica.cn. check my reference replica rolex. official source https://rolexreplica-watch.net. check that rolexreplica-watch. With Best Cheap Price fake rolex. Continued replica rolex. check here replica rolex. Learn More rolex replica. published here rolex replica. P न्यूज़ छत्तीसगढ़

सखी वन स्टांप सेंटर के 05 वर्ष पुरे हुए...1001 प्रकरण किए गए दर्ज 946 का हुआ निराकरण....



बलौदाबाजार :-- विपत्ति ग्रस्त महिलाओं को आपातकालीन सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से जिला मुख्यालय के सँयुक्त जिला कार्यालय परिसर के नजदीक ही सखी वन स्टॉप सेंटर का संचालन 10 मार्च 2017 से निरंतर किया जा रहा है। सखी वन स्टॉप सेंटर का मुख्य उद्देश्य सभी आयु वर्ग की महिलाओं को घर के भीतर व बाहर घरेलु हिंसा, लैंगिक हिंसा, टोनही प्रताड़ना, दहेज प्रताड़ना, यौन उत्पीड़न, बाल विवाह, एसिड अटैक, बलात्कार, मानव तस्करी आदि जैसे अपराधो के विरूद्ध एक ही छत के नीचे सलाह, संरक्षण व मार्गदर्शन प्रदान करना है।

सखी वन स्टॉप केन्द्र 24 घंटे 7 दिन निरंतर सेवा हेतु तत्पर है। केन्द्र द्वारा पीड़ित महिलाओं केा आवश्यकतानुसार चिकित्सकीय परामर्श, काउंसलिंग, विधिक सहायता, पुलिस सहायता एवं आश्रय प्रदान किया जाता है। केन्द्र प्रशासक कु तुलिका परगनिहा द्वारा बताया गया कि, सखी वन स्टॉप सेेंटर में फरवरी 2022 तक 1001 प्रकरण दर्ज किया गया है, जिसमें 946 प्रकरण निराकृत कर 55 प्रकरण लंबित है,वर्तमान तक 386 पीड़िताओं को आश्रय सुविधा, 178 पुलिस सुविधा,196 चिकित्सा सुविधा, 77 विधिक सुविधा उपलब्ध करवाया जा चुका है। कोविड लॉकडाउन के दौरान भी सखी वन स्टॉप सेंटर 24/7 दिन संचालित रहा, जिसमें 120 से अधिक प्रकरण दर्ज किया गया है एवं 50 से अधिक पीड़िताओं को इस दौरान आश्रय सूविधा प्रदान किया गया है। वर्तमान तक 523 काउंसलिंग किया गया है, जिसमें से कई प्रकरणों में काउंसलिंग कर घरेलु विवाद से अलग हुए पति-पत्नि को एक किये जाने में सखी सेंटर की अहम भुमिका रही है एवं 48 भटकती अवस्था में मिली महिलाओं से 38 को उनके परिजन से मिलवाया गया अन्य महिलाएँ बलिकाएँ को अन्य आश्रय गृह आश्रय हेतु भेजा गया। सखी वन स्टॉप सेंटर में सबसे अधिक दर्ज होने वाले प्रकरण घरेलु हिंसा से संबंधित है, जो कि 432 है, जिनमें से 299 पीड़िताओं को काउंसलिंग सुविधा उपलब्ध करवाया गया है एवं 55 पीड़िताओं को आश्रय सुविधा उपलब्ध करवाया गया है। सखी वन स्टॉप सेंटर द्वारा मानसिक विक्षिप्ता से संबंधित 27 प्रकरण दर्ज किये गये है, जिनमें से 15 को चिकित्सकीय ईलाज हेतु राज्य मानसिक चिकित्सालय सेंदरी, बिलासपुर भेजा गया एवं अन्य पीड़िताओं को जिला चिकित्सालय बलौदाबाजार से परिक्षण करवाकर उनके परिजन के सुपुर्द करवाया गया। विगत 5 वर्षाें से केन्द्र प्रशासक कु तुलिका परगनिहा, परामर्शदाता  कविता वर्मा,केस वर्कर ज्योति ताडीं, तमन्ना जांगड़े, वीणा साहू, नीलम साहू, आई.टी.वर्कर सोनचंद घृतलहरे, बहुद्देशीय कार्यकर्ता पांचो साहु, अंजु पटेल, विद्या साहु एवं दिव्या कैवर्त्य कार्यरत है तथा स्वास्थ्य विभाग से प्रतीभा चेलक, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से वकिल रुबि वर्मा पीएलवी हेमलता वर्मा, इश्वरी घृतलहरे, महिला आरक्षक चंद्रकला भारती,नगर सैनिक सुलेखा डहरिया सखी मे अपनी सेवाएं दे रही है। पीड़ित महिलाएँ सखी वन स्टॉप सेंटर से संपर्क न. 7089383268 एवं महिला हेल्पलाइन 181(टोल फ्री नं ) के माध्यम से संपर्क कर सकती है। सखी वन स्टॉप सेंटर अपने उद्देश्यों को पूरा करने में सफल रही है एवं पीड़ित महिलाओं के लिए एक वरदान बनकर सामने आ रही है।
कलेक्टर ने दी बधाई कलेक्टर  डोमन सिंह ने सखी सेंटर के 5 वर्ष पूरे होने पर सखी सेंटर के सभी कर्मचारियों को बधाई दिए है। उन्होंने कहा आप सभी इसी तरह पूरी लगन एवं मेहनत के साथ कार्य करते है। इसी तरह महिला एवं बाल विकास विभाग जिला कार्यक्रम अधिकारी एल आर कच्छप ने भी सखी सेंटर के 5 वर्ष होने पर शुभकामनाएं संदेश प्रेषित किए है।


TOP